Cart
गुलकंद के फायदे

गुलकंद के फायदे

24 May, 2022

गुलकंद को गुलाब की पत्तियों का मुरब्बा भी बोला जाता है। यह एक प्रकार का खुशबूदार जैम होता है। जिसे घरों में बेहद पसंद किया जाता है। यह खाने और देखने में जितना बढ़िया होता है, उतनी ही अच्छी इसकी महक (सुगन्ध) होती है। ज्यादातर लोगों ने गुलकंद का सेवन पान और मिठाई के रूप में किया होगा। लेकिन इसके कई फायदे स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को भी दूर करते हैं। यह शरीर को लंबे समय तक रिफ्रेश रखने का काम करता है।

 

क्या होता है गुलकंद?

जैसा ऊपर बताया गया है कि गुलाब की पंखुड़ियों से बने मुरब्बे को ही गुलकंद कहा जाता है। इसको गुलाब की ताजी पत्तियों और स्वाद के लिए चीनी का इस्तेमाल करके तैयार किया जाता है। ज्यादातर लोग इसका सेवन गर्मियों में करना पसंद करते हैं। ताकि शरीर को ठंडा रखा जा सके। इसके अलावा गुलकंद की सुगंध और स्वाद के चलते इसका प्रयोग कई स्वादिष्ट खाद्य पदार्थों में भी किया जाता है।

 

गुलकंद के फायदे-

कब्ज के लिए-

गुलकंद का सेवन कब्ज की समस्या का उपचार करता है। क्योंकि गुलकंद में मैग्नीशियम मौजूद होता है। जो कब्ज की समस्या को दूर करके लैक्सेटिव प्रभाव को प्रदर्शित करता है।

 

मुंह के छालों के लिए-

वैज्ञानिक शोध के अनुसार, मुंह में छाले होने का मुख्य कारण मुंह में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की कमी होना होता है। इसलिए मुंह में छाले होने पर गुलकंद का सेवन करना एक सुलभ उपाय है। क्योंकि गुलकंद में विटामिन-बी समूह की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जिससे मुंह के छाले ठीक हो सकते हैं।

 

पेट की समस्याओं के लिए-

गुलकंद को पेट संबंधित समस्याओं के लिए बहुत गुणकारी माना जाता हैं। यह पाचन तंत्र में सुधार करने और कब्ज जैसी परेशानियों को दूर करने का काम करता है। यह अपच के कारण होने वाली पेट की गैस से भी राहत दिलाने काम करता है।

 

वजन घटाने के लिए-

गुलकंद का सेवन करना वजन घटाने में मदद करता है। क्योंकि गुलकंद बनाने के लिए जिन गुलाब की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है, उनमें फैट नहीं होता। इसलिए लो-फैट वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना वजन घटाने में कारगर होता है।

 

आंखों के लिए-

क्योंकि गुलकंद तासीर से ठंडा होता है। इसलिए इसके सेवन से आंखों में होने वाली सूजन और लालिमा का इलाज किया जा सकता है। विशेषज्ञों की रिसर्च रिपोर्ट में भी इस बात को कहा गया है।

 

स्वस्थ हृदय के लिए-

गुलकंद में मैग्नीशियम मौजूद होता है। जो शरीर में ब्लड प्रेशर और ब्लड ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने हेतु सक्रिय रूप से कार्य करता है। जिससे हृदय को लंबे समय तक स्वस्थ बनाए रखने में सहायता मिलती है।

 

याददाश्त के लिए-

गुलकंद का सेवन याददाश्त के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो याददाश्त क्षमता को बेहतर करने के लिए सकारात्मक रूप से कार्य करते हैं।

 

थकान और मानसिक तनाव के लिए-

 

गुलकंद एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट होने का साथ, शरीर को ऊर्जावान बनाने का काम करता है। यह तंत्रिका तंत्र को शांत करके मानसिक तनाव को दूर करता है। वहीं इसका शीतल प्रभाव थकान को दूर करने में मदद करता है।

 

त्वचा के लिए-

गुलकंद त्वचा हेतु टॉनिक के रूप में काम करता है। गुलकंद का सेवन मुंहासे, व्हाइटहेड्स, ब्लैकहेड्स और पिंपल्स जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। इसके अलावा गुलकंद खाने से शरीर से सभी तरह के टॉक्सिन निकल जाते हैं जिससे बॉडी का ब्लड साफ होता है।

 

गुलकंद को खाने के तरीके-

  • रात के समय गुलकंद को गर्म दूध के साथ खाया जा सकता है।
  • गुलकंद का सेवन मिठाई या पान में लगाकर भी किया जाता है।
  • गुलकंद का सेवन ब्रेड पर लगाकर किया जा सकता है।
  • गर्मियों में गुलकंद का सेवन पानी के साथ भी किया जा सकता है।

गुलकंद के नुकसान-

गुलकंद को तैयार करने में किसी भी प्रकार के रसायनों का प्रयोग नहीं किया जाता। इसलिए इसके नुकसान न के बराबर होते हैं। पर गुलकंद में स्वाद के लिए चीनी का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए मधुमेह से पीड़ित लोगों को इसका सेवन डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही करना चाहिए।

Share: