Cart
लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

24 May, 2022

लैवेंडर के फूल से बनने वाला लैवेंडर ऑयल बेहद गुणकारी होता है। यह एक खास एसेंशियल ऑयल है, जो मानसिक थकान, अवसाद और स्ट्रेस के साथ-साथ कई शारीरिक समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है। इस तेल का उपयोग विभिन्न प्रकार के कॉस्मेटिक और चिकित्सा परियोजनों के लिए भी किया जाता है। लैवेंडर एसेंशियल ऑयल में पुष्प घास की खास सुगंध होती है। जिससे मन और शरीर दोनों को आराम मिलता है और ताज़गी की अनुभूति होती है। इसमें 150 से अधिक सक्रिय घटक (Active components) होते हैं। इसके अलावा लैवेंडर ऑयल में सूजन विरोधी, सूक्ष्मजीवी रोधी, फंगसरोधी, अवसादरोधी, जीवाणुरोधी, रोगाणुरोधी, पीड़ारोधी, शांतिदायक और सन्तोष दिलाने के गुण मौजूद होते हैं। इन सभी गुणों के कारण स्वास्थ्य में लाभ हेतु लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है। यह सौंदर्य प्रसाधनों में उपयोग होने वाली सबसे ज्यादा पसंदीदा जड़ी बूटियों में से एक है और कई क्रीम, बाल संबंधी उत्पादों और मोमबत्तियों में इसका उपयोग किया जाता है। 

 

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल के फायदे

स्टॉफ इन्फेक्शन में असरदार है लैवेंडर एसेंशियल ऑयल -

 

 लैवेंडर तेल में पाए जाने वाले रोगाणुरोधी और सूजन विरोधी गुण स्टैफाइलोकॉकस (Staphylococcus) बैक्टीरिया की वजह से होने वाले स्टाफ (Staph) संक्रमण से शरीर को बचाते हैं। स्टैफाइलोकॉकस बैक्टीरिया इम्पेटिगो (impetigo), फोड़े और सेल्युलाइटिस जैसी कई त्वचा संबंधित समस्याएं पैदा कर सकता है। जिससे बचाव में लैवेंडर एसेंशियल ऑयल बेहद असरदार होता है। 

 

 चिंता में उपयोगी है लैवेंडर एसेंशियल ऑयल-

 

 लैवेंडर एसेंशियल ऑयल शांति दिलाने वाली औषधि के रूप में काम कर चिंता और पैनिक अटैक को कम करता है। लैवेंडर अरोमाथेरेपी तंत्रिका तंत्र को खोलती है जिससे कारण चिंता कम हो जाती है। यह दिमाग में चिंता ट्रिगर करने वाली स्थितियों को कम करती है।

 

अच्छी नींद में सहयक है लैवेंडर एसेंशियल ऑयल - 

 

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल की खुशबू दिमाग को शांत कर मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर करती है इसलिए बेहतर नींद के लिए इस तेल का उपयोग अच्छा उपाय माना जाता है। लैवेंडर अरोमाथेरेपी आराम और नींद के लिए बेहतर मदद कर सकती है। इसके अलावा लैवेंडर तेल मनोदशा को स्थिर करने और मजबूत भावनाओं को संतुलित करने में भी सहायता करता है।

 

फंगस संक्रमण को दूर करता है लैवेंडर एसेंशियल ऑयल- 

 

फंगस संक्रमण से लड़ने के लिए लैवेंडर तेल एक प्रभावी विकल्प है। दरअसल, लैवेंडर तेल में त्वचा और नाखून संबंधी संक्रमणों के खिलाफ शक्तिशाली फंगसरोधी गुण होते हैं। यह तेल मामूली घावों, खुजली वाली त्वचा, त्वचा का नीला पड़ जाना या जलने के मामले में भी फायदेमंद होता है। 

 

कीड़ों को दूर रखने में लाभदायक है लैवेंडर एसेंशियल ऑयल-

 

 लैवेंडर तेल एक प्राकृतिक कीट रक्षक दवा के रूप में काम करता है जो पिस्सू, झींगुर, पतिंगे, मच्छर और मक्खियों आदि कीड़ों को दूर करने में मदद करता है। इसके लिए बाहर जाने से पहले पल्स पॉइंट (pulse points) पर लैवेंडर तेल की कुछ बूदें लगाने से कीड़ों से बचाव होता है या फिर रुई पर लैवेंडर तेल की कुछ बूंदों को डाल कर इसे अपने कपड़ो की अलमारी में भी रख सकते हैं ताकि कीड़ों को दूर किया जा सके।

 

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल के प्रकार 

इंग्लिश लैवेंडर: 

 

लैवेंडर का यह पौधा ज्यादा ठंड में भी जीवित रह सकता है और इसकी खुशबू सबसे अच्छी होती है, लेकिन इस प्रकार के लैवेंडर से ऑयल सबसे कम मात्रा में निकलता है।

 

फ्रेंच लैवेंडर: 

 

इस लैवेंडर के पौधे अन्य लैवेंडर के मुकाबले आकार में कुछ बड़े होते हैं। इसकी पत्तियां हरे और ग्रे रंग की होती हैं। यह खुशबू में सबसे तेज होता है। इस लैवेंडर को ज्यादा ठंड की आवश्यकता नहीं होती और यह 10 डिग्री फारेनहाइट तापमान में भी उग जाता है। 

 

स्पाइक लैवेंडर: 

 

इस प्रकार का लैवेंडर का पौधा दिखने में घास की तरह होता है। ये मुख्य रूप से मेडिटरेनियन क्षेत्र में पाए जाते हैं। आकार में इंग्लिश लैवेंडर से छोटे होते हैं और इसकी ऊंचाई तकरीबन 200 से 700 मीटर होती है। 

 

लैवेंडिन: 

 

इस प्रकार का लैवेंडर इंग्लिश लैवेंडर और स्पाइक लैवेंडर का हाइब्रिड होता है। ख़ास कर उद्योग के लिए ही इसकी खेती की जाती है, क्योंकि यह सबसे ज्यादा खूबसूरत लैवेंडर होता है और सबसे ज्यादा तेल भी इसी किस्म से प्राप्त होता है। 

 

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल के नुकसान- 

  • मुख्य रूप से लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का त्वचा पर उपयोग सुरक्षित माना जाता है।  लेकिन फिर भी एलर्जी की संभावना को खत्म करने के लिए इस्तेमाल से पहले इसे अपनी थोड़ी सी त्वचा पर लगा कर पैच परीक्षण कर लें।
  • गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को लैवेंडर आवश्यक तेल का उपयोग करने से बचना चाहिए।
  • लैवेन्डर तेल के अत्यधिक उपयोग से कई बार मतली, उल्टी और सिरदर्द जैसी समस्या पैदा हो सकती है।

Share: